नमस्ते दोस्तों ,जैसे की आप को पता होगा अभी के दिन मई कंप्यूटर का उपयोग सबसे जयादा होने लगा है ,ऐसे टाइम पे हमलोगो को कंप्यूटर के बेरमा सब कुछ जानना बहुत ही जयादा जरुरी है ।

आज कंप्यूटर क्या है”computer kya hai“?कैसे काम करता है ?कितना type कंप्यूटर है ,computer का विशेषताएं क्या है ये सब कुछ जानेंगे एक पोस्ट मई।

Computer क्या है- computer kya hai ?

computer in hindi
computer kya hai

यदि आप इसे अभी पढ़ रहे हैं, तो आप कंप्यूटर का उपयोग कर रहे हैं। शायद यह एक लैपटॉप, शायद एक डेस्कटॉप कंप्यूटर, या शायद एक स्मार्टफोन भी है। वे अलग दिख सकते हैं, लेकिन वे सभी एक ही अंतर्निहित तकनीक साझा करते हैं।

जितना अधिक हम समझते हैं कि तकनीक कैसे काम करती है, उतना ही हम अपने आसपास के कंप्यूटरों का उपयोग करके अपनी दुनिया को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं। अभी बात करते है कंप्यूटर क्या है ?(computer kya hai hindi mein)

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है। जो Charles Babbage ने बनायी थी। चालसे बबागे को  फादर ऑफ़ कंप्यूटर वि बोलै जाता हैए। हर कंप्यूटर इनपुट डेटा में लेता है, स्टोर करता है और उसे प्रोसेस करता है, और आउटपुट देता है।

कंप्यूटर ० और १  दो नंबर को ही पेचानता है । हम लोग जब कोई इनपुट देते है उसे कंप्यूटर पहला ० और १ मई परिबर्तन करता है उसके बात हमें आउटपुट देता है। पहला के दिन मई कंप्यूटर को एक कैलकुलेटर के रूप मैं चलाया जाता था।

लकिन धीरे धीरे जब सब को पता चला कंप्यूटर से और वि बहुत कुछ किया जा सकता है थो फिर उसे और वि उन्नत किया गया अभी के दिन मई एक कंप्यूटर बहुत कुछ काम करता है। जैसा की बैंकिंग सेक्टर मई,एजुकेशन इंस्टिट्यूट मई ,ऑफिसेस मई ,और घर मई वि अभी इसका उपयोग किया जाता है।

मुझे उम्मीद है की computer kya hai इसके बारेमे मई पूरी जानकारी मिली होगी।

कंप्यूटर का आविष्कार किसने किया था? (Who was invented the computer)

जब कंप्यूटर की अबिस्कर की  बात अता  है थो बहुत सरे लोगो का नाम आह जाता है ,लकिन सबसे पहला  Charles Babbage ने  कंप्यूटर की अबिस्कर किये थे जिसका नाम था Analytical Engine जो 1837 मई बनाया गया था.

Note:-Charles Babbage को  father of computer बोला जाता है.

computer kya hai .father of computer
father of computer (source:-Wikipedia)

कंप्यूटर का फुल फॉर्म -Full form of computer

C-Commonly
O-Operated
M-Machine
P-Particularly
U-Used for
T-Technology
E-Education and
R-Research

Hindi mai 

सी-आमतौर पर
O-संचालित
एम मशीन
पी-विशेष रूप से
U- के लिए इस्तेमाल किया
टी प्रौद्योगिकी
ई शिक्षा और
आर रिसर्च

कंप्यूटर का इतिहास -Generation Of Computer 

  1. पहली पीढ़ी की अवधि: 1940-1956। वैक्यूम ट्यूब आधारित।
  2. दूसरी पीढ़ी की अवधि: 1956-1963। ट्रांजिस्टर आधारित।
  3. तीसरी पीढ़ी की अवधि: 1964-1971। एकीकृत सर्किट आधारित।
  4. चौथी पीढ़ी की अवधि: 1971-1985। वीएलएसआई माइक्रोप्रोसेसर आधारित।
  5. पांचवीं पीढ़ी की अवधि: 1985-अभी तक । ULSI माइक्रोप्रोसेसर आधारित।

1 पहली पीढ़ी

पहले पीढ़ी के  कंप्यूटर मई वैक्यूम तुबे का इस्तेमाल किया गया था जो की एक बड़े ेलेक्टोरिक ब्लब के तरह था और ेया वैक्यूम तुबे बहुत ही जयादा ताप पैदा करता था। और ेया देखना मई वि बहुत ही बड़ा था। उस टाइम इसका कीमत इतना जयादा था की बड़े बड़े कम्पनी शरीफ इसको खारित पते थे।

पहली पीढ़ी की मुख्य विशेषताएं हैं –

  • वैक्यूम ट्यूब तकनीक
  • अविश्वसनीय
  • समर्थित मशीन भाषा ही
  • बहुत क़ीमती
  • बहुत गर्मी पैदा की
  • धीमी इनपुट और आउटपुट डिवाइस
  • विशाल आकार
  • एसी की जरूरत
  • गैर-पोर्टेबल
  • बहुत बिजली का उपभोग किया

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर थे –

  • ENIAC
  • EDVAC
  • UNIVAC
  • IBM-701
  • IBM-650

2 दूसरी पीढ़ी

दूसरी पीढ़ी की 1959-1965 अवधि तक थी। इस पीढ़ी में, ट्रांजिस्टर का उपयोग किया गया था जो सस्ती थी, वैक्यूम ट्यूबों से बने पहली पीढ़ी की मशीनों की तुलना में अधिक विश्वसनीय और तेज थी। इस पीढ़ी में, प्राथमिक मेमोरी के रूप में चुंबकीय कोर और माध्यमिक भंडारण उपकरणों के रूप में चुंबकीय डिस्क का उपयोग किया गया था।

दूसरी पीढ़ी की मुख्य विशेषताएं हैं –

  • ट्रांजिस्टर का उपयोग
  • पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में विश्वसनीय
  • पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में छोटा आकार
  • पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में कम गर्मी  होता था
  • पहली पीढ़ी के कंप्यूटरों की तुलना में तेज़
  • अभी भी बहुत महंगा है
  • एसी की आवश्यकता
  • समर्थित मशीन और विधानसभा भाषाओं

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर थे –

  • आईबीएम 1620
  • आईबीएम 7094
  • सीडीसी 1604
  • सीडीसी 3600
  • UNIVAC 1108

3.तीसरी पीढ़ी

तीसरी पीढ़ी की अवधि 1965-1971 तक थी।

आईसी का आविष्कार जैक किल्बी ने किया था।

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटरों ने ट्रांजिस्टर की जगह इंटीग्रेटेड सर्किट (IC) का इस्तेमाल किया। एक आईसी में संबंधित सर्किटरी के साथ कई ट्रांजिस्टर, प्रतिरोधक और कैपेसिटर होते हैं।

तीसरी पीढ़ी की मुख्य विशेषताएं हैं –

  • आईसी का इस्तेमाल किया
  • पिछली दो पीढ़ियों की तुलना में अधिक विश्वसनीय
  • छोटे आकार का
  • कम गर्मी पैदा की
  • और तेज
  • कम रखरखाव
  • महंगा
  • एसी की आवश्यकता
  • कम बिजली का उपभोग
  • उच्च स्तरीय भाषा का समर्थन किया

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर थे –

  • IBM-360 श्रृंखला
  • हनीवेल-6000 श्रृंखला
  • पीडीपी (व्यक्तिगत डेटा प्रोसेसर)
  • आईबीएम-370/168
  • टीडीसी-316

4.चौथी पीढ़ी

कंप्यूटर की चौथी पीढ़ी को बहुत बड़े पैमाने पर एकीकृत (वीएलएसआई) सर्किट के उपयोग द्वारा चिह्नित किया गया है। वीएलएसआई सर्किट में लगभग 5000 ट्रांजिस्टर और अन्य सर्किट तत्व होते हैं और एक चिप पर उनके संबद्ध सर्किट से चौथी पीढ़ी के माइक्रो कंप्यूटर होने संभव हो गए हैं। चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर अधिक शक्तिशाली, कॉम्पैक्ट, विश्वसनीय और सस्ती हो गए। नतीजतन, इसने एक व्यक्तिगत कंप्यूटर (पीसी) क्रांति को जन्म दिया।

इस पीढ़ी में सभी उच्च programming भाषाओं जैसे C और C ++, DBASE आदि का उपयोग किया गया था।

चौथी पीढ़ी की मुख्य विशेषताएं हैं:

  • वीएलएसआई तकनीक का इस्तेमाल किया
  • बहुत सस्ता
  • पोर्टेबल और विश्वसनीय
  • पीसी का उपयोग
  • बहुत छोटा आकार
  • पाइपलाइन प्रसंस्करण
  • कोई A.C की जरूरत नहीं
  • इंटरनेट का कॉन्सेप्ट पेश किया गया था
  • नेटवर्क के क्षेत्र में शानदार घटनाक्रम
  • कंप्यूटर आसानी से उपलब्ध हो गए

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर थे:

  • DEC 10
  • STAR 1000
  • PDP 11
  • CRAY-1(Super Computer)
  • CRAY-X-MP(Super Computer)

पाँचवी पीढ़ी

पाँचवी पीढ़ी ( Fifth Generation ) 1980 से अबतक का अवधि कंप्यूटर की पाँचवी पीढ़ी के रूप में जाना जाता हैं । इस पीढ़ी में ULSI ( Ultra Large Scale Integration ) टेक्नोलॉजी का उपयोग होने लगा । जिसके परिणामस्वरूप माइक्रोप्रोसेसर चिप्स में लाखों इलेक्ट्रॉनिक कंपोनेंट्स होते हैं । यह पीढ़ी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ( Artificial Intelligence ) पर आधारित हैं ।

इस पीढ़ी के कुछ कंप्यूटर्स के उद्धरण :-

  • DESKTOP
  • LAPTOP
  • NOTEBOOK
  • ULTRABOOK
  • CHROMEBOOK

कंप्यूटर के प्रकार “Types of computer in Hindi”

मायक्रो कंप्यूटर(Micro computer):-मायक्रो कंप्यूटर को पर्सनल कंप्युटर के रूप में भी जाना जाता है । हम इसे अपने निजी काम के लिए उपयोग करते हैं । पर्सनल कंप्युटर सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला कंप्यूटर है ।

 पर्सनल कंप्युटर के प्रकार निम्नलिखित हैं :-डेस्कटॉप , लॅपटॉप , टॅब्लेट , स्मार्टफोन्स डेस्कटॉप लॅपटॉप टब्लेट स्मार्टफोन मायक्रो ( पर्सनल कंप्युटर )मिनी कंप्युटर मिनी कंप्यूटर मेनफ्रेम कंप्यूटर से छोटे होते लेकिन मादको कंप्यटर की तलना में बड़े होते है ।

मिनी कंप्यूटर(Mini computer)- मिनी कंप्यूटर मेनफ्रेम से छोटे लेकिन माइक्रो कंप्यूटर से बड़े होते हैं।  इसके अलावा, वे एक माइक्रो कंप्यूटर की तुलना में अधिक गतिशील और अधिक शक्तिशाली हैं।  बड़ी कंपनियों और सरकारी कार्यालयों में मिनी कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है।

मेनफ्रेम कंप्यूटर(– हालांकि सुपर कंप्यूटर के लिए मेनफ्रेम कंप्यूटर पर्याप्त मजबूत नहीं है, लेकिन इसकी जानकारी संग्रहीत करने और संसाधित करने की क्षमता बड़ी है।  मेनफ्रेम कंप्यूटर एक ही समय में कई उपयोगकर्ताओं से जानकारी संसाधित करने में सक्षम हैं।

उदाहरण के लिए।  बीमा कंपनियां इसका उपयोग उपभोक्ता की जानकारी संग्रहीत करने के लिए करती हैं।

सुपर कंप्यूटर(Super computer):-प्रदर्शन और डेटा प्रोसेसिंग के मामले में सबसे शक्तिशाली कंप्यूटर सुपर कंप्यूटर हैं। ये विशेष और कार्य विशिष्ट कंप्यूटर हैं जिनका उपयोग बड़े संगठनों द्वारा किया जाता है। इन कंप्यूटरों का उपयोग अनुसंधान और अन्वेषण उद्देश्यों के लिए किया जाता है, जैसे नासा अंतरिक्ष शटल को लॉन्च करने, उन्हें नियंत्रित करने और अन्वेषण कार्य के लिए सुपर कंप्यूटर का उपयोग करता है

CHARACTERISTICS OF COMPUTER IN Hindi “Computer visheshta bataye”

characteristics_of_computer
Computer kya hai uski visheshta bataye source:tutorialpoint

1.ACCURACY:- computer कोई वि कैलकुलेशन 100 % सही kerta है .

2.SPEED:- computer का स्पीड एक ह्यूमन के processing speed से कही गुना जयादा होता है .computer 1 sec मई 10000 से वि     जयादा instruction process कर सकता है .

3.AUTOMATION:- किसी वि बक्ति ko अगर एक आरा बारे kerne ko de थो वो कुछ टाइम पर थक जाता है लकिन कंप्यूटर कोई वि     काम अकबर बोल देने  से वो काम ख़तम ना होने तक वो काम करता ही रहता है

4.MEMORY:- कंप्यूटर मई डाटा स्टोर करना का क्षमता बहुत ही जयादा इसलिए या पर फोटो वीडियो और वि बहुत सरे डाट को रख     सकते है .

5.RELABILITY:– इतने सरे काम करने बाद वि है बहुत साल तक अच्छा से चलता है

6.DELIGENCE:–  इसका मतलब होता है लगन कंप्यूटर अपना पूरा काम लगन के साथ करता है ।

conclusion:-

मुझे उमेद है आज कंप्यूटर क्या है (computer kya hai )?कैसे काम करता है ,कितने प्रकार के कंप्यूटर होते है ,कंप्यूटर कहा कहा उसे होता है या सब आपको जान लिया। पोस्ट कैसे लगा कमेंट करके जरूर बोलना । अगर आपका क्वेश्चन(Question) है थो अप पूछ सकते हो ।

धन्यवाद