आज आप जानेंगे OS(operating system)  के बारेमे पूरा जानकरी ।

Operating system kya hai ? os  कैसे बनाते है ?

OS कितने टाइप के होते है पूरी जानकारी।

अगर आप ने ये पोस्ट मई क्लिक किया है थो आपको कंप्यूटर मई बहुत रूचि होगा।

आज के दिन मई सब कुछ ऑनलाइन हो चूका है।

ऐसे मई हर किसी को कंप्यूटर के बारेमे रूचि होना बहुत ही जयादा जरुरी है।

कंप्यूटर क्या है ?हिंदी मई पूरी जानकरी

operating system kya hai (what is os )?

ओस(os) एक सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो की यूजर और हार्डवेयर के बिच मई इनफार्मेशन अदन प्रदान करने मई काम अत है। कंप्यूटर हमलोगो का भासा को नहीं जतना इसलिए सिस्टम सॉफ्टवेयर उसे मदद करता है। operating system बहुत सारे प्रोग्राम के है।

हर एक कंप्यूटर लैपटॉप मोबाइल मई एक ओस होता है। ओस के बिना किसी वि कंप्यूटर को चलना बहुत ही मुश्किल है। कंप्यूटर मई जितना वि सरे एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर होता है जैसे की windows ,mac OS , chrome OS , IOS ,android ,Linuxवो सबको ओस चलने मई मदद करता है।

OS कैसे बनाये?

ओस बनाने के लिया आपको बहुत सरे बातो का ध्यान रखना पड़ेगा।

  1. सबसे पहले आपको कंप्यूटर के बारेमे बेसिक ज्ञान के साथ साथ कंप्यूटर के पूरी जानकारी होना जरुरी है। अगर आपको कंप्यूटर के बेरमे नहीं पता होगा थो आप ओस नहीं बना सकते ,आपके जानकारी के लिया बोल्दु ओस कंप्यूटर के हार्ट होता है थो इसे बनाना इतना आसान वि नहीं है।
  2. आपको हाई लेवल प्रोग्रामिंग लैंग्वेज(high level programming language )का ज्ञान होता बहुत ही जरुरी ,जैसे की स(c) ,स++(c++) ,इस तरह के लैंग्वेज का पूरी तरह ज्ञान लेके आप ओस के काम सुरु कर सकते है।
  3. आपको हाई लेवल प्रोग्रामिंग के बाद ,लौ लेवल प्रोग्रामिंग(low level programming ) का वि ज्ञान होना चाहिए ,जैसे की Assembly language ।
  4. इसके बात आपको ेया सोचना पड़ेगा की आप किस तरह का ओस बनाना चाते है ,उसी हिसाब से आपको plan बनाना होगा।

इसके बात धीरे धीरे आप इसको बना स्टार्ट करे ,अगर आपको ओस(operating system) के बेरमा कुछ वि नहीं पता थो अब यूट्यूब के फ्री कोर्स के मदद से आप ओस बनाना सुरु कर सकते है।

ऑपरेटिंग सिस्टम के प्रकार (Types of Operating System)

Operating System के प्रकार –

  1. Batch OS
  2. Multiprogramming OS
  3. Multitasking OS
  4. Distributed OS
  5. Network OS
  6. Time-Sharing OS
  7. Real-Time OS

1.Batch os :- पुराने कंप्यूटर(computer) मई कोई वि काम प्रोसेस होने मई बहुत टाइम लग जाता था इसी काम को जल्दी करने के लिया ,बहुत सरे काम को एकसाथ बैच करके प्रोसेस करना स्टार्ट किया गया था ।

बैच ऑपरेटिंग सिस्टम में उपयोगकर्ता कंप्यूटर से सीधे इंटरैक्ट नहीं कर सकता है।इस तरह के ओस मई आपको खुद का काम ओफ़्फ़िल्ने मई करता है ,पंच ार्ड के हेल्प लेके उसके बाद कंप्यूटर इसे करता है ।

2.Multiprogramming OS :- Multiprogramming OS एक साथ बहुत सरे जॉब/प्रोग्रामिंग को एकसाथ एक्सक्यूटे(execute) करने मई मदद करता है। मल्टीप्रोग्रम्मिंग ओस कबि स्तिर नहीं रहता।

उतरन से समझते है ,मान लो की मेमोरी मई जॉब १, जॉब २ ,और जॉब ३ है ,ओस जॉब १ का काम एक्सक्यूटे कर रहा है ,उसी टाइम अगर जॉब २ को एक्सक्यूटे करना है थो ओस जॉब १ को Queue मई रख के जॉब २ को एक्सक्यूटे करता है ,इसी तरह काम वि थोड़ा जल्दी हो जाता है ।

3.Multitasking OS:-मल्टीटास्किंग ओस का पावर बहुत ही जदया होता है ,या ओस आपको बहुत सरे एप्लीकेशन को एकसाथ रन करने म मदद करता है ,जैसे की आप सब करते हो एकसाथ ईमेल ,गूगल सर्च  kerte ho ।

4.Distributed OS:-Resources share करने की सुविधा के साथ, साइट उपयोगकर्ता किसी अन्य साइट पर उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करने में सक्षम हो सकता है। ये डाटा को fast process करता है ।

5.Network OS:-जितने वि कंप्यूटर एक नेटवर्क के through connected रहते है नेटवर्क OS, उसे अपना सर्विसेज देता है ,नेटवर्क ओस के थोरुह आप फाइल्स(files),डाटा (data) ट्रांसफर कर सकते हो ।

6.TimeSharing OS:- Time sharing OS  ,multitasking OS जैसे ही काम करता है । Time sharing OS मई हर काम को एक टाइम मई devided किया जाता है ,और वो काम उसी काम मई पूरा होता है।

7.RealTime OS :- रियल टाइम ओस बहुत ही पावरफुल ओस है ,या हर काम को बहुत ही जल्दी ख़तम करता है , ओस बड़े बड़े कामो मई जैसे की मिसाइल सिस्टम, एयर ट्रैफिक कंट्रोल सिस्टम, रोबोट आदि।

OPERATING SYSTEM  की विशेषताएं:-

features of os -wiki hindi
  • operating system बहुत सारे प्रोग्राम के collection hai .जो की बाकि सरे programme को चलने मई मदद करता है ।
  • OS ko उसे बहुत हो चूका है ,क्यू की इसमें बहुत ही बरिया गई होता है ।
  • OS एक साथ बहुत सरे प्रोग्रमम(PROGRAME) र एप्लीकेशन(APPLICATION) रन करने मई हेल्प करता है ।
  • os computer के हार्डवेयर और यूजर के बिच काम करता है ।
  • OS यूजर को कंप्यूटर को आसानी से चलाने के लिया हेल्प(HELP) करता है ।
  • ये सरे input/output को control  करने मई मदद करता है ।

Os का उदाहरण( Example of OS)

  • Windows
  • Android
  • iOS
  • Mac OS
  • Linux
  • Chrome OS
  • Windows Phone OS
सारांश:-

मुझे उमेद है की आपको ओस के बेरमे पूरी जानकारी मिली होगी ,जैसे की operating system kya hai ,कितने प्रकार के होते है ,os कैसे बनते है । 

अगर अभी वि आपके कोई Question है थो कमेंट सेक्शन मई पूछ सकते है।

।धन्यवाद ।